पुल्लिंग की पहचान


पुल्लिंग की पहचान

१.हिन्दी वर्णमाला ‘इ, ई, ऋ’ को छोड़कर सब वर्ण पुल्लिंग कहलाते है । 

२.अनाजों के नाम पुल्लिंग होते है । जैसे – गेहूँ, बाजरा, चावल, आदि, अपवाद – अरहर, मूँग, जुआर ।

३.दिनों और महिनों के नाम पुल्लिंग होते है । जैसे – रविवार, सोमवार, चैत, वैशाख आदि।

४.ग्रहों के नाम पुल्लिंग होते है ।जैसे – सूर्य, चन्द्र, राहु आदि । अपवाद – पृथ्वी

५.देशों के नाम पुल्लिंग होते है ।जैसे – भारत, चीन, जापान आदि

६.पर्वतों और समुद्रों के नाम पुल्लिंग होते है ।जैसे – हिमालय, हिन्दमहासागर आदि ।

७.प्राय; पेड़ों के नाम पुल्लिंग होते है । जैसे – पीपल, शीशम आदि । 

८.द्रव्य पदार्थों के नाम पुल्लिंग होते है । जैसे – लोहा, सोना, पानी, घी, तेल आदि ।अपवाद – मिट्टी, चाँदी ।

९.भारी, मोटी, भद्दी, वस्तुएँ प्राय; पुल्लिंग होती है । जैसे – गड्ढा, गट्ठर, शहतीर, रस्सा, कोल्हू, टीला आदि ।

१०.अकारान्त तत्सम संज्ञा शब्द पुल्लिंग होते है ।जैसे – धन, जल, फल आदि ।

११. हिन्दी की अकारान्त संज्ञाएँ प्रायः पुल्लिंग होती है । जैसे – छाता, बाजा, चमड़ा, गुस्सा आदि ।

१२.संस्कृत के वे शब्द जिनके अन्त मे ‘ख’ अथवा ‘ज’ आता हौ पुल्लिंग होते है । जैसे – सुख, दुख, जलज, अनुज आदि । 

१३.संस्कृत के वे शब्द जिनके अन्त मे ‘त्र’ आता है पुल्लिंग होते है । जैसे – शस्त्र, नेत्र, पात्र, चरित्र आदि ।

१४.अरबी, फारसी के ‘खाना’ प्रत्यय (पीछे लगने वाले) शब्द पुल्लिंग होते है । जैसे – दवाखाना, डाकखाना आदि ।

१५.अरबी, फारसी के दान प्रत्यय वाले शब्द पुल्लिंग होते है । जैसे – फूलदान, कमलदान आदि ।

१६.आ, आव, पा, पन, न –ये प्रत्यय जिन शब्दों के अन्त मे हों वे प्रायः पुल्लिंग होते है ।

१७.यात्रा के साधनों में – ताँगा, स्कूटर, ट्रक, इंजन, हवाईजहाज, राकेट आदि पुल्लिंग है।

१८.शरीर के अंग – हाथ, पैर, सिर, नाक, कान, बाल, माथा, कंठ, घुटना शब्द पुल्लिंग है ।

१९.वस्त्रों के नाम – रुमाल, कुर्ता, पाजामा, कोट, पेटीकोट, सूट, हैट, कच्छा, घाघरा, मोजे, दुपट्टा, गाउन शब्द पुल्लिंग है ।

२०.सब्जियाँ – शलगम, अदरक, टमाटर, आलू, कचालू, खीरा, बैंगन, मटर, प्याज, लहसुन, टिंडा करेला, नींबू, तरबुज, सिंघारा शब्द पुल्लिंग है ।

२१.नीचे लिखे समूहवाचक शब्द सदा पुल्लिंग में प्रयुक्त होते है –
दल, झुंड, समूह, ग्रुप, मंडल, जत्था, वर्ग, समाज, समुदाय, संघ ।
logo
Dictionary Logo